तीन हजार पदों पर भर्ती की तैयारी| LT GRADE NEW BHARTI 2022


एलटी ग्रेड शिक्षक: आयोग को मिला अधियाचन, अर्हता स्पष्ट न होने से फंसा विज्ञापन


प्रयागराज प्रदेश के राजकीय इंटर कॉलेजों में एलटी ग्रेड शिक्षक के तीन हजार पदों पर भर्ती की तैयारी चल रही है। उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (यूपीपीएससी) को इन पदों का अधियाचन मिल गया है। हालांकि विभिन्न विषयों में अर्हता स्पष्ट न होने के कारण नई भर्ती का विज्ञापन फंसा हुआ है। इसके लिए आयोग ने संबंधित विभाग को पत्र भेजकर सभी विषयों से संबंधित अर्हता स्पष्ट करने को कहा है।


1207 पदों का अधियाचन काफी पहले मिल चुका था। सूत्रों का कहना है कि अब नए पदों का अधियाचन भी मिल गया है और पदों की संख्या बढ़कर तकरीबन तीन हजार पहुंच गई है। रिक्त पदों पर भर्ती की तैयारी चल रही है, लेकिन


उत्तर लोक सेवा


इससे पूर्व आयोग सभी विषयों में अर्हता से संबंधित नियमों को स्पष्ट कर देना चाहता है। हाईकोर्ट के आदेश के अनुपालन में इस बार आयोग को एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती के विज्ञापन में अर्हता संबंधी नियमों एवं शर्तों को पूरी तरह से स्पष्ट करना होगा। " आयोग को एलटी ग्रेड शिक्षक के


में एलटी ग्रेड-2018 की भर्ती में कई विषयों में अर्हता स्पष्ट न होने के कारण विवाद हुआ। कला विषय में चयन होने के बाद तकरीबन ढाई पूरी हो सकेगी।


प्रवक्ता सिविल अभियंत्रण के 17 पदों पर चयन


प्रयागराज। उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग ने प्राविधिक शिक्षा विभाग के तहत प्रवक्ता सिविल अभियंत्रण के 17 पदों पर सीधी भर्ती का अंतिम चयन परिणाम सोमवार को जारी कर दिया। इनमें 14 पद अनारक्षित, दो पद अन्य पिछड़ा वर्ग एवं एक पद अनुसूचित • जाति के लिए आरक्षित है। इन पदों पर भर्ती के लिए आयोग ने पांच से आठ अप्रैल तक इंटरव्यू कराए थे। चयनितों में अनूप मौर्य, रजनीश कुमार मिश्र, वेरेश प्रताप सिंह, चंदन कुमार गुप्ता, मनोज वर्मा, अमन शर्मा, तुला राम, सूचि चौधरी, चैतन्य निधि, अंकित सिंह, बृजेश कुमार सुमन, अलीम एजाज, अंकित कुमार, निमिषा द्विवेदी, कल्पना पटेल, रजनीश कुमार एवं अतुल सिंह शामिल हैं। ब्यूरो


सौ अभ्यर्थियों का चयन निरस्त कर दिया गया और कई अभ्यर्थियों की ज्वाइनिंग अब भी फंसी हुई है।


हिंदी विषय में भी अर्हता का विवाद हुआ था और 100 से अधिक पदों पर चयनित अभ्यर्थियों की नियुक्ति नहीं हो सकी। इस बार एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती के विज्ञापन में अर्हता को लेकर स्थिति पूरी तरह से स्पष्ट हो जाने पर बाद में कोई विवाद नहीं होगा और भर्ती समय से


दो चरणों में हो सकती है परीक्षा


एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती भी पिछली बार एक परीक्षा के माध्यम से हुई थी और इसमें सामाजिक विज्ञान एवं हिंदी के पेपर आउट होने के आरोप लगे थे। एसटीएफ ने इसकी जांच की थी और तत्कालीन परीक्षा नियंत्रक को जेल जाना पड़ा था। ऐसे में आयोग एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती में पारदर्शिता के लिए दो चरणों में परीक्षा आयोजित करा सकता है। हालांकि, आयोग ने अभी इस पर कोई निर्णय नहीं लिया है।


तीन हजार पदों पर भर्ती की तैयारी| LT GRADE NEW BHARTI 2022

Post a Comment

Previous Post Next Post